For my Dear Friends❤

“मेरी आँखों में हैं अंगारे, जो देखना चाहें कुछ नजारे। कुछ ऐसे हसीन नजारे, जिनमें हों चाँद और सितारे। मुझे काली रातों से है प्यार, उगता सूरज देखने की आदत नहीं। रात में सोना, लगता जहर जैसा, सोते हुए सपने

Share:
Read more

 रहस्यमयी कहानियां:- कौन थी वो बर्फीली रात मे मिली महिला?

ह ये उन दिनों की बात है जब हम एचपीयू में पढ़ते थे। 80 का दशक था। मैं ऐवलॉज हॉस्टल में रहा करता था और कुछ दोस्त हिमकिरीट में रहा करते थे। तो हम कभी रिवोली जाया करते तो कभी

Share:
Read more

नव वर्ष मनाऊँ कैसे?

“अपने मन को समझाऊँ कैसे ?  आज मै खुशी की गीत गाऊँ कैसे ?  मेरी भारत माँ को सदियों तक गुलाम बनाया रखा जिन्होंने; देशभक्तों को बेझिझक फाँसी पर चढा दिया जिन लोगो ने, मै उनकी संस्कृति का नया साल

Share:
Read more