“तेरे वादे”

“कभी मैं तुम्हें उस चाँद की चाँदनी में ढूंढने की कोशिश करता हूँ, कभी उस डूबते सूरज की लालिमा में ढूंढने की कोशिश करता हूँ। वहाँ नहीं दिखती हो, तो अपने बगीचे के खुशबूदार फूलों में खोजने लगता हूँ, फिर

Read more

ख्वाब

हमारी ज़िन्दगी में ख्वाबों की अलग अलग जगह होती है इन्हीं ख्वाबों से तो कुछ पाने की ख्वाहिशें होती है इन ख्वाबों को पाने के लिए ही तो हमारी दुनिया से भी जंग होती है उमर के हर पड़ाव पर

Read more

।।तमन्ना।।

मैं तो बैठा कुछ सोच रहा था दुनिया के रंग देख रहा था डूबा अपने ख्यालों में इक अलग जहाऩ संजो रहा था। उन्हें मेरे एक तरफ अमीरी खड़ी दिख रही थी दूसरी तरफ उन्हें गरीबी झुकी दिख रही थी

Read more

।।आज़ादी।।

जिसका शेर सा था हौंसला  जिसकी हाथियों सी थी चाल मौत भी डरती थी मिलाने को नज़रें जिसके साथ वो वीर था वो शेर था वो शहीद-ए-आज़म भगत सिंह था उसके जैसा सूरमा न किसी माँ ने कभी जनमा न

Read more