रहस्मयी कहानियां: कभी नहीं भूल सकता गांव के उस डरावने घर में बिताया वक्त

बात उन दिनों की है जब मैं 8-9 साल का था। मेरे पापा हेल्थ डिपार्टमेंट कंपाउडर हैं और मम्मी हाउस वाइफ हैं। पापा का ट्रांसफर उन दिनों मंडी जिले के दूर-दराज के गांव में बने प्राइमरी हेल्थ सेंटर (डिस्पेंसरी) में

Read more