तेरे बिना मैं?

“ये सर्दियों का मौसम, और बाहर हो रही हल्की-हल्की बर्फबारी; तेरी यादें दिलाये, मुझे बहुत सताये। बिन आँसू रुलाये, और फिर ये बताये; तेरे बिना मैं खाली सा हूँ।” “ये ढ़ाबे पर बिक रही कुल्हड़ वाली चाय, और रेडियो पर

Read more

“बेपरवाह बातें”

“साँस से साँस मिले, या ना मिले, रूह से रूह मिलाने की चाहत है मुझे। मन से मन मिले या ना मिले, दिल से दिल मिलाने की चाहत है मुझे।” “वो पास आयें, और मेरे जिस्म की खुशबू को छू

Read more

Knock-Knock

“Knock-knock, Hello guys, anybody there? I want to meet with my dreams, I want to make them happen.” “Knock-Knock, Hello guys, anybody there? I want to meet with my thoughts! I want to make them enormous.” “Knock-Knock, Hello guys, anybody

Read more

“इश्क”, ‘एकतरफा वाला’

“इश्क की दुनिया में महफूज सा हो गया हूँ, इस दुनिया की चकाचौंध में मशगूल सा हो गया हूँ, खुदा ना खास्ता मुलाकात हो गई तन्हाई से, फीके फीके लफ्जों से बयां किया इश्क उसने।”   _____(1) “सुबह का सच होने

Read more